ⓘ मुक्त ज्ञानकोश. क्या आप जानते हैं? पृष्ठ 447



                                               

गिजुभाई बधेका

गिजुभाई बधेका) गुजराती भाषा के लेखक और महान शिक्षाशास्त्री थे। उनका पूरा नाम गिरिजाशंकर भगवानजी बधेका था।इन्होंने बाल मंदिर नामक विघालय कि स्थापना की। अपने प्रयोगों और अनुभव के आधापर उन्होंने निश्चय किया था कि बच्चों के सही विकास के लिए, उन्हें द ...

                                               

गुलाम याज़दानी

गुलाम याज़दान को विज्ञान एवं अभियांत्रिकी के क्षेत्र में सन १९५९ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये हैदराबाद राज्य में पुरातत्व विशेषज्ञ थे तथा इस राज्य में एक विशेष विभाग के वे संस्थापक थे।

                                               

जॉन कर्टिन

                                               

हीरा डोम

हीरा डोम उन्नीसवीं सदी के पूर्वार्द्ध में विद्यमान प्रथम दलित कवि के रूप में विख्यात हैं जिनकी एकमात्र उपलब्ध भोजपुरी कविता सुप्रसिद्ध साहित्यिक पत्रिका सरस्वती में छपी थी और जिसमें तत्कालीन सामाजिक, आर्थिक एवं धार्मिक विसंगतियों-विडम्बनाओं की वि ...

                                               

हेनरी टेलर

हेनरी टेलर एक ब्रिटिश फ्रीस्टाइल तैराक थे जिन्होंने 1906, 1908, 1912 और 1920 ग्रीष्मकालीन ओलम्पिक में भाग लिया था। यह प्रथम विश्व युद्ध के दौरान रॉयल नेवी में सेवाकृत थे और 1926 तक इन्होंने प्रतिस्पर्धात्मक स्तर पर तैरना जारी रखा। सेवानिवृत्त होन ...

                                               

डेव्हिड बेन-गुरियन

डेव्हिड बेन-गुरियन इज़राइल राज्य के प्राथमिक संस्थापक और इज़राइल के पहले प्रधानमन्त्री थे। वे एक कट्टर यहूदी राष्ट्रवादि थे और उन्होने फ़िलिस्तीनी राज्यक्षेत्र में १४ मई १९४८ को इज़राइल को स्वतंत्र घोषीत किया और उस घोषणापत्पर हस्ताक्षर करने वाले ...

                                               

मैथिलीशरण गुप्त

राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त हिन्दी के प्रसिद्ध कवि थे। हिन्दी साहित्य के इतिहास में वे खड़ी बोली के प्रथम महत्त्वपूर्ण कवि हैं। उन्हें साहित्य जगत में दद्दा नाम से सम्बोधित किया जाता था। उनकी कृति भारत-भारती भारत के स्वतन्त्रता संग्राम के समय में ...

                                               

राजा महेन्द्र प्रताप सिंह

राजा महेन्द्र प्रताप सिंह भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, पत्रकार, लेखक, क्रांतिकारी और समाज सुधारक थे। वे आर्यन पेशवा के नाम से प्रसिद्ध थे।

                                               

राधाविनोद पाल

राधाबिनोद पाल भारत के अंतरराष्ट्रीय ख्याति के विधिवेत्ता और न्यायाधीश थे। उन्होंने द्वितीय महायुद्ध के बाद जापान द्वारा सुदूर पूर्व में किए गये युद्धापराधों के विरुद्ध चलागए अंतरराष्ट्रीय मुकदमे में वे भारतीय जज थे। ११ जजों में वे अकेले थे जिन्हो ...

                                               

अनुग्रह नारायण सिंह

डा अनुग्रह नारायण सिंह एक भारतीय राजनेता और बिहार के पहले उप मुख्यमंत्री सह वित्त मंत्री थे। अनुग्रह बाबू भारत के स्वतंत्रता सेनानी, शिक्षक तथा राजनीतिज्ञ रहे हैं।उन्होंने महात्मा गांधी एवं डॉ॰ राजेन्द्र प्रसाद के साथ चंपारण सत्याग्रह में महत्त्व ...

                                               

अर्विन श्रोडिन्गर

"Expanding Universes" Cambridge University Press 1956. "What is Life?" Macmillan 1946. "Nature and the Greeks" and "Science and Humanism" Cambridge University Press 1996 ISBN 0-521-57550-8. "Statistical Thermodynamics" Dover Publications 1989 ISB ...

                                               

एलेक्सिस सेंट लेगर

एलेक्सिस सेंट लेगर का जन्म 31 मई, 1887 ई० को फ्रांस के एक द्वीप लेजर ले फ्यूले में हुआ था। इनका उपनाम सेंट जॉन पर्स था और इस नाम से भी ये काफी विख्यात रहे हैं। इनकी शिक्षा-दीक्षा एक वृद्ध धर्माचार्य के द्वारा हुई थी और इनकी दाई एक हिंदू स्त्री थी ...

                                               

गोविन्द बल्लभ पन्त

पंडित गोविन्द बल्लभ पन्त या जी॰बी॰ पन्त प्रसिद्ध स्वतन्त्रता सेनानी और वरिष्ठ भारतीय राजनेता थे। वे उत्तर प्रदेश राज्य के प्रथम मुख्य मन्त्री और भारत के चौथे गृहमंत्री थे। सन 1957 में उन्हें भारतरत्न से सम्मानित किया गया। गृहमंत्री के रूप में उनक ...

                                               

डेविड लश

डेविड लश अल्बर्टा, कनाडा के एक प्रान्तीय राजनेता थे। वे अल्बर्टा की विधान सभा में 1935 से 1940 तक सदस्य रहे। वे सोशल क्रेडिट कॉकस सरकार में रहे।

                                               

तिलोक चंद मेहरूम

तिलोक चंद मेहरूम एक प्रसिद्ध उर्दू कवि थे, जिन्होंने न केवल उनके लेखन के लिए प्रसिद्ध नहीं बल्कि उनकी सरल जीवनशैली और स्पष्ट गहराई के लिए भी प्रसिद्ध थे, और धार्मिक भेदभाव से बिलकुल नापसंद थे।

                                               

नारायण प्रसाद सिंह

नारायण प्रसाद सिंह भारत के एक राजनेता एवं पत्रकार थे। वे १९३७ में बनी पहली संविधान सभा के सदस्य थे। नारायण बाबू हिन्दी, भोजपुरी, उर्दू, अंग्रेजी और फारसी में प्रवीण थे। १९३३ में उन्होने योगी नामक एक साप्ताहिक निकाला जिसमें धर्म और नैतिकता से सम्ब ...

                                               

फिल मीड

फिल मीड अंग्रेज क्रिकेटर थे जिन्होंने इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिये 17 टेस्ट मैचों में 4 शतक की बदौलत 1185 रन बनाए। हैम्पशायर के लिये उन्होंने 55.061 रन बनाए जो कि किसी भी एक टीम के लिये बनागए सबसे ज्यादा रन हैं। उन्होंने 41 की उम्र में अपना आखिरी ...

                                               

फ्रैंक वूली

फ्रैंक एडवर्ड वूली अंग्रेज पेशेवर क्रिकेटर थे। वह हरफनमौला के रूप में खेलते थे। अपने तीस से अधिक वर्षों के प्रथम श्रेणी करियर में उन्होंने केंट काउंटी क्रिकेट क्लब की तरफ से खेलते हुए 978 मैचों में 58.959 रन बनाए जो कि केवल जैक हॉब्स से कम है। 1. ...

                                               

बसिश्वर सेन

बसिश्वर सेन, जिन्हें अक्सर बोसी सेन के उपनाम से जाना जाता था, एक प्रख्यात कृषि वैज्ञानिक थे, जिन्हें विशेषतः भारत में हरित क्रांति में अपने अग्रणी किरदार के लिए जाना जाता है, जिसने भारत के कृषि और खाद्यपूर्ती के मानचित्र को हमेशा के लिए बदल दिया, ...

                                               

मानवेन्द्रनाथ राय

मानवेंद्रनाथ राय भारत के स्वतंत्रता-संग्राम के राष्ट्रवादी क्रान्तिकारी तथा विश्वप्रसिद्ध राजनीतिक सिद्धान्तकार थे। उनका मूल नाम नरेन्द्रनाथ भट्टाचार्य था। वे मेक्सिको और भारत दोनों के ही कम्युनिस्ट पार्टियों के संस्थापक थे। वे कम्युनिस्ट इंटरनेश ...

                                               

सुरेन्द्रनाथ दासगुप्त

सुरेन्द्रनाथ दासगुप्त संस्कृत तथा दर्शन के विद्वान थे। वे विश्व के एक प्रमुख दार्शनिक तथा भारतीय दर्शन और साहित्य के भाग्य विद्वान् थे। कैम्ब्रिज यूनीवर्सिटी प्रेस की ओर से पांच खण्डों में प्रकाशित उनका भारतीय दर्शन का इतिहास नामक ग्रंथ भारतीय दर ...

                                               

स्वामी आनन्द

स्वामी आनन्द एक सन्त, गाँधीवादी कार्यकर्ता तथा गुजराती लेखक थे। वे नवजीवन और यंग इण्डिया आदि गांधी के प्रकाशनों के प्रबन्धक थे। इनके द्वारा रचित एक रेखाचित्र कुलकथाओ के लिये उन्हें सन् १९६९ में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया। "अकादम ...

                                               

हरेन्द्र कुमार मुखर्जी

हरेन्द्र कुमार मुखर्जी, भारतीय संविधान सभा की निर्मात्री समिति के उपाध्यक्ष थे और भारत के गणतन्त्र बनने के पश्चात पश्चिम बंगाल के प्रथम राज्यपाल बनाए गए।

                                               

हृदय नाथ कुन्ज़रू

डॉ॰ हृदय नाथ कुन्ज़रू हृदय नाथ कुन्ज़रू भारत के प्रमुख स्वतन्त्रता सेनानी थे। वे भारतीय संविधान के निर्माण के लिए गठित संविधान सभा के एक सदस्य थे। खेल मनोरंजन एवं अनुसाशन में भारत सरकार को सुझाव देता है कुंजरू समिति का निर्माण हृदय नाथ कुंजरू की ...

                                               

एमिल सिलांपा

एमिल सिलांपा का जन्‍म 16 सितंबर 1888 को एक बेहद गरीब परिवार में हुआ। पिता दिहाड़ी मजदूर थे और मां नौकरानी। गरीबी की हालत यह थी कि फिनलैंड के भयानक सर्दी वाले वातावरण में पाला पड़ने से उनकी मामूली फसलें, बीज और पालतू पशु ही नहीं कई बच्‍चे भी मारे ...

                                               

कैथरीन मैन्सफील्ड

कैथरीन मैन्सफील्ड: Katherine Mansfield) न्यूज़ीलैण्ड मूल की अत्यधिक ख्यातिप्राप्त आधुनिकतावादी अंग्रेजी कहानीकार थी। बैंकर पिता तथा अपेक्षाकृत संकीर्ण स्वभाव वाली माता की पुत्री कैथरीन नैसर्गिक रूप से ही स्वच्छंद स्वभाव वाली हुई। परंपरागत रूप से ...

                                               

चन्द्रशेखर वेंकटरमन

सीवी रामन भारतीय भौतिक-शास्त्री थे। प्रकाश के प्रकीर्णन पर उत्कृष्ट कार्य के लिये वर्ष १९३० में उन्हें भौतिकी का प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार दिया गया। उनका आविष्कार उनके ही नाम पर रामन प्रभाव के नाम से जाना जाता है। १९५४ ई. में उन्हें भारत सरकार द् ...

                                               

जे॰ बी॰ कृपलानी

जीवटराम भगवानदास कृपलानी भारत के स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी, गांधीवादी समाजवादी, पर्यावरणवादी तथा राजनेता थे। उन्हें सम्मान से आचार्य कृपलानी कहा जाता था। वे सन् 1947 में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष रहे जब भारत को आजादी मिली। जब भावी प ...

                                               

टी एस एलियट

टी० एस० एलियट १९४८ के नोबेल-पुरस्कार-विजेता तथा आधुनिक युग की महानतम अंग्रेजी साहित्यिक विभूतियों में से थे। २६ वर्ष की आयु में आप अपनी मातृभूमि अमरीका छोड़कर इंग्लैंड में बस गए और १९२७ में ब्रिटिश नागरिक बन गए। आपने नाटक, कविता और आलोचना तीनों क ...

                                               

बाबू गुलाबराय

बाबू गुलाबराय का जन्म इटावा, उत्तर प्रदेश में हुआ। उनके पिता श्री भवानी प्रसाद धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति थे। उनकी माता भी कृष्ण की उपासिका थीं और सूर, कबीर के पदों को तल्लीन होकर गाया करती थीं। माता-पिता की इस धार्मिक प्रवृत्ति का प्रभाव बाबू ...

                                               

बाळासाहेब गंगाधर खेर

बाळासाहेब गंगाधर खेर बॉम्बे राज्य के पहले मुख्यमन्त्री थे । तब बॉम्बे राज्य में वर्तमान के महाराष्ट्और गुजरात राज्य शामिल थे। १९५४ में उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया।

                                               

मुहम्मद इक़बाल शैदाई

मुहम्मद इक़बाल शैदाई एक क्रांतिकारी थे जिन्हों ने अपने पूरे जीवन को ब्रिटिश साम्राज्यवाद के खिलाफ लड़ने में बिताया था। एशियाई और यूरोपीय देशों में आत्म-निर्वासन में अपने जीवन का सबसे अच्छा हिस्सा - अपने मातृभूमि से दूर थे।

                                               

वेंकटराम रामालिंगम पिल्लै

वेंकटराम रामालिंगम पिल्लै को साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में भारत सरकार द्वारा, सन १९७१ में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। ये तमिलनाडु राज्य से हैं।

                                               

सर्वेपल्लि राधाकृष्णन

डॉ॰ सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के प्रथम उप-राष्ट्रपति और द्वितीय राष्ट्रपति रहे। वे भारतीय संस्कृति के संवाहक, प्रख्यात शिक्षाविद, महान दार्शनिक और एक आस्थावान हिन्दू विचारक थे। उनके इन्हीं गुणों के कारण सन् 1954 में भारत सरकार ने उन्हें सर्वोच्च ...

                                               

सैफुद्दीन किचलू

सैफुद्दीन किचलू एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी, वकील, व भारतीय राष्ट्रवादी मुस्लिम नेता थे। इनका जन्म पंजाब के अमृतसर में 15 जनवरी 1888 में हुआ था। ये उच्च शिक्षा के लिए विदेश चले गये और कैम्ब्रिज विद्यालय से स्नातक की डिग्री, लन्दन से बार एट लॉ की ...

                                               

हरिलाल मोहनदास गांधी

हरिलाल मोहनदास गांधी मोहनदास करमचंद गांधी के सबसे बड़े पुत्र थे।. उनके तीन छोटे भाई मणिला गांधी, रामदास गांधी और देवदास गांधी थे।

                                               

अमर नाथ काक

                                               

एम पी शास्त्री

मंडकोलतुर पतंजली शास्त्री भारत के सर्वोच्च न्यायालय के दूसरे न्यायाधीश थे जो ७ नवम्बर १९५१ से ३ जनवरी १९५४ तक इस पद पर रहे।

                                               

एम्मा असॉन

एम्मा असॉन, एक एस्टोनियाई राजनेता थी। वह एस्टोनियाई संसद में चुनी जाने वाली पहली महिला थीं। एसोन ने स्वतंत्र एस्टोनिया के पहले संविधान के निर्माण में भाग लिया, विशेष रूप से शिक्षा और लैंगिक समानता के क्षेत्रों के भीतर। उन्होंने 1912 में एस्टोनिया ...

                                               

ऐना अक्म्टोवा

ऐना अक्म्टोवा एक रूसी आधुनिक कवि, सर्वाधिक प्रशंसित लेखकों में से एक थी। उनकी मजबूत और स्पष्ट अग्रणी महिला आवाज रूसी कविता में एक नया ही राग मारा है। उनके लेखन को दो पीरियड में वितरित कर सकते हैं - प्रारंभिक काम १९१२-२५ और उसके बाद का काम १९३६ से ...

                                               

कानजी स्वामी

कानजी स्वामी आध्यात्मिक जैन गुरु थे। वो "दिगम्बर परम्परा में मूल आम्नाय के प्रचारक थे।उन्होंने कोई नया पंथ नहीं चलाया था वरन तत्कालीन समय में प्रचलित रूढ़िवादिता और हठधर्मिता के स्थान पर विशुद्ध आध्यात्म का जिनागम अनुसार प्रतिपादन किया था। उन्हों ...

                                               

के केलप्पन

के. केलप्पन केरल के प्रसिद्ध राष्ट्रवादी नेता, स्वतन्त्रता सेनानी और समाज सुधारक थे। आप महात्मा गाँधी से बहुत प्रभावित थे। जब गाँधी जी ने असहयोग आन्दोलन प्रारम्भ किया तो के. केलप्पन ने अपनी कॉलेज की पढ़ाई छोड़ दी और आन्दोलन में कूद पड़े। सन् 1930 ...

                                               

नरेन्द्र देव

आचार्य नरेंद्रदेव भारत के प्रमुख स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी, पत्रकार, साहित्यकार एवं शिक्षाविद थे। वे कांग्रेस समाजवादी दल के प्रमुख सिद्धान्तकार थे। विलक्षण प्रतिभा और व्यक्तित्व के स्वामी आचार्य नरेन्द्रदेव अध्यापक के रूप में उच्च कोटि के निष्ठ ...

                                               

नारायण हरी आपटे

                                               

जवाहरलाल नेहरू

जवाहरलाल नेहरू भारत के प्रथम प्रधानमन्त्री थे और स्वतन्त्रता के पूर्व और पश्चात् की भारतीय राजनीति में केन्द्रीय व्यक्तित्व थे। महात्मा गांधी के संरक्षण में, वे भारतीय स्वतन्त्रता आन्दोलन के सर्वोच्च नेता के रूप में उभरे और उन्होंने १९४७ में भारत ...

                                               

पैट्सी हेंड्रेन

इलियास हेनरी हेंड्रेन जिन्हें पैट्सी हेंड्रेन के रूप में जाना जाता है, अंग्रेज क्रिकेटर थे। इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिये उन्होंने 1920 से 1935 तक 51 टेस्ट में 47.63 की औसत से 3525 रन बनाए। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में वो मिडलसेक्स की तरफ से 1907 से ल ...

                                               

बद्रिया होशगर

बद्रिया होशगर 1889 उस्मान साम्राज्य – 1968, तुर्की एक तुर्क संगीतकार थी। होशगर लेक्के संगीत परम्परा से बचपन से प्रभावित थी क्योंकि उनका बचपन कोनया में गुज़रा। जब वे और उनका परिवार इस्तांबुल स्थानांतरित हुए,होशगर ने औद का प्रशिक्षण इस्मत आफ़न्दी ल ...

                                               

बेनो गुटेनबर्ग

बेनो गुटेनबर्ग एक जर्मनी में जन्में भूकंप विज्ञानी थे। इन्हें इनके साथी चार्ल्स फ्रांसिस रिक्टर के संग रिक्टर पैमाना की खोज के लिये जाणा जाता है।

                                               

मेहरचंद महाजन

                                               

राजकुमारी अमृत कौर

राजकुमारी अमृत कौर आहलुवालिया स्वतंत्र भारत की दस वर्षों तक स्वास्थ्य मंत्री थीं। वे स्वतंत्रता संग्राम सेनानी तथा सामाजिक कार्यकर्ता थीं। वे महात्मा गांधी की अनुयायी तथा १६ वर्ष तक उनकी सचिव रहीं।

शब्दकोश

अनुवाद
Free and no ads
no need to download or install

Pino - logical board game which is based on tactics and strategy. In general this is a remix of chess, checkers and corners. The game develops imagination, concentration, teaches how to solve tasks, plan their own actions and of course to think logically. It does not matter how much pieces you have, the main thing is how they are placement!

online intellectual game →