पिछला

★ हिंदी पत्र-पत्रिकाएँ - भारत के सम्राट ..


हिंदी पत्र-पत्रिकाएँ
                                     

★ हिंदी पत्र-पत्रिकाएँ

ऑफ़लाइन सम्मेलन

भारत में प्रकाशित दैनिक समाचार पत्र:

1.दैनिक भास्कर 2.राजस्थान पत्रिका 3.अमर उजाला 4.पत्रिका 5.बीबीसी समाचार 6.हिंदुस्तान टाइम्स 7.हरि भूमि 8.पंजाब केसरी 9.दैनिक जागरण 10.Gondwe समय 11.नई दुनिया

अंग्रेजी पत्रिकाएं:

१.प्रतियोगिता दर्पण २.आज भारत ३.सरस सलिल ४.ज्ञान दर्पण ५.जागरण जोश प्लस ६.क्रिकेट सम्राट ७.आदिवासी अक्षर और आदिवासी दृष्टि ८.डायमंड क्रिकेट आज ९.मेरे दोस्त १०.सरिता

                                     
  • म र तण ड क ह द क पहल सम च र पत र म न ज त ह इस समय इन गत व ध य क च क कलकत त क न द र थ इसल ए यह पर सबस महत वप र ण पत र - पत र क ए - उद द ड
  • ह न द पत र क प रव स ट ड - अक षरम न मक अन तरर ष ट र य स ह त य क स स क त क स स थ क पत र क प रव ई ज न ह न व द श म छ प ह द पत र - पत र क ए
  • फ ल म 2. ह द र ड य 3. ह द पत र - पत र क ए 4. ह द ट ल व ज न 5. ह द स यबर म ड य ह न द पत रक र त ह न द स न म भ रत य म ड य भ रत य प ठक सर व क षण
  • सम च र पत र र जस थ न पत र क कर म न द श श र श ध ग र - ह न द क लघ पत र क ओ क पहल स कलन मध य प रद श स प रक श त ह न द पत र क ए Designing Magazines
  • पर छप ह त ह सम च र पत र स च र क स धन म महत वप र ण स थ न रखत ह सम च रपत र प र य द न क ह त ह ल क न क छ सम च र पत र स प त ह क, प क ष क, म स क
  • ज द न ह द ल ल आध र त सम च र पत र थ 1964 म यह सम च र पत र स बह प रक श त ह न व ल सम च र पत र बन पत र क न अपन प रथम ज धप र स स करण 1981
  • म ह द क म स क पत र एक मह न स ह त य क शक त क र प म स मन आए श खल त उपन य स कह न क र प म कई पत र प रक श त ह ए - ज स उपन य स 1901, ह द न व ल
  • ह न द क प रच र - प रस र करन क ल ए ह न द क छ ट - बड सभ पर क ष ओ क स च ल त करन ह न द क प स तक एव पत र - पत र क ए प रक श त करन तथ ह न द
  • और पत र क अह ज दग भ श म ल ह 2015 म यह द श क सबस अध क पढ ज न व ल सम च र - पत र बन वर ष 1956 म द न क भ स कर न अपन पहल सम च र - पत र क
                                     
  • द ह न द The Hindu भ रत म प रक श त ह न व ल एक द न क अ ग र ज सम च र पत र ह इसक म ख य लय च न नई म ह और इसक स प त ह क पत र क क र प म प रक शन
  • पत र क कव त क श पर सरस वत क कह न श र न र यण चत र व द स ह त य क पत रक र त : एक अन तर य त र र जस थ न स ह त य अक दम स ह त य क पत र - पत र क ए
  • च ड क प रक र स प त ह क सम च र र ष ट र क पहच न प र र प ह द सम च र पत र स स थ पन 2009 भ ष ह द व तरण र ष ट र च ड क आज र द न क ब तर आम र असम द न क
  • रह ह भ रत य र ल पत र क तथ उसक स प दक क पत रक र त और स ह त य म व श ष य गद न क ल ए उत तर प रद श ह द स स थ न तथ ह द अक दम द ल ल सम त
  • सम च र पत र सम ह ह ज अपन ख ज और तथ यपरक पत रक र त क ल ए ज न ज त ह तहलक सम ह क प रध न स प दक तर ण त जप ल ह और यह सम ह द पत र क ए प रक श त
  • महत त वप र ण श ध प रबन ध लहर क हव ल बग र प र नह ह सकत ब हद ह न द पत र - पत र क क श, ड स र य प रस द द क ष त, व ण प रक शन, नय द ल ल स स करण - 2004
  • ह द अक दम द ल ल म स थ त एक ह द स व स स थ ह द ल ल म ह न द भ ष स ह त य एव स स क त क स वर द धन, प रच र - प रस र और व क स क उद द श य
  • प ञ चजन य भ रत य र ष ट रव द व च रध र क प रणयन करन व ल ह न द क स प त ह त सम च र पत र ह यह र ष ट र य स वय स वक स घ क व च रध र क प रत न ध त व
  • भ रत ह द म ब ल ज न व ल भ ष ओ क ल ए ज ब न - ए - ह न द पद क उपय ग ह आ ह भ रत आन क ब द अरब - फ रस ब लन व ल न ज ब न - ए - ह द ह द ज ब न
  • छ प ख न प स तक लय, स ग रह लय एव प रश सन क भवन ह ह द स ह त य सम म लन न ह सर वप रथम ह द ल खक क प र त स ह त करन क ल ए उनक रचन ओ पर प रस क र
  • म ट सम च र पत र भ रत म प रक श त ह न व ल एक अ ग र ज भ ष क सम च र पत र ह
                                     
  • सब ज नक र ल सकत ह ब ल ग सइनम ड य ह द भ ष म तकन क ब ल ग क स च तकन क ब ल ग व भ न न पत र - पत र क ओ म प रक श त च ठ ठ क आल ख आद क वर णन
  • ह न द स प त ह क ब ल पत र क ह इसक प रक शन बच च क ध य न म रख कर क य गय ह इस पत र क क प रक शन भ स कर सम ह करत ह यह इसक सम च र पत र द न क
  • इस पत र क न स प र ण ह द स ह त य जगत म अपन व श ष ट पहच न बन य ह आल चन क प रक शन म लत आल चन क द र त एक त र म स क स ह त य क पत र क क
  • क अन व द, स ह त य क पत र - पत र क ओ क प रक शन प रच र - प रस र अह न द भ ष क ष त र म भ रत य भ ष ओ क प र त स हन, व श व ह न द सम म लन एव अन तर र ष ट र य
  • ह न द प रद प, ह न द क प रस द ध सम च र पत र थ इसक सम प दक ब लक ष ण भट ट थ ह द प रद प म न टक, उपन य स, सम च र और न ब ध सभ छपत थ ह द प रद प
  • ज ग तर पत र क भ रत म प रक श त ह न व ल एक अ ग र ज भ ष क सम च र पत र ह
  • आन द ब ज र पत र क ब ग ल भ ष क सम च र पत र ह ज सक प रक शन क लक त नई द ल ल एव म म बई स एक स थ ह त ह इसक प रत द न प रत य छपत
  • हम र ह न द भ ष प रच र क यह द र ह क र य न रन तर प रगत पथ पर अग रसर त ह सम ज क स व म समर प त रह ग अलबर ट ह द पर षद क ज लघर सरस वत पत र
  • भ तप र व स व यत स घ य र स क प रव स बस ह ए ह वह कई जगह पर र स पत र - पत र क ए प रक श त ह त ह र स भ ष म र ड य और द रदर शन क म करत ह तथ
  • दक षत प रम ण - पत र ख ह द भ ष दक षत ड प ल म ग ह द भ ष दक षत एडव स ड प ल म घ ह द भ ष क अन प रय ग दक षत ड प ल म ङ ह द श ध ड प ल म

यूजर्स ने सर्च भी किया:

पतर, सपदक, पतरक, हनद, हदपतरओकसचpdf, तदभवपतरसपदकनमकयह, समलचकपतरकसपदक, भरतमतपतरकसपदक, आजकल, आजकलहनदपतरकpdf, भरत, जगरण, तदभव, समलचक, जगरणपतरकसपदक, सपतरकनम, पतरकए, हदपतरकए, सभपतरओकनम, हिंदी पत्र-पत्रिकाएँ, भारत के सम्राट. हिंदी पत्र-पत्रिकाएँ,

...

शब्दकोश

अनुवाद

हिंदी पत्रिकाओं की सूची pdf.

Page 1 प्रथम अध्याय विषय प्रवेश Page 2 अध्याय प्रथम. अधिकांश समाचार पत्र अभी भी समाचारों के लिए अंग्रेजी समाचार एजेन्सियों पर. निर्भर रहते जहाँ तक हिंदी पत्रकारिता को प्रवृत्ति और प्रभाव का प्रश्न है, अधिकांश. सर्वोदयी पत्र पत्रिकाएँ यह कोशिश करती है कि बिना विज्ञापन के प्रकाशित.


तद्भव पत्रिका के संपादक का नाम क्या है.

हस्तलिखित भित्ति पत्र एवं पत्रिकाएँ हिंदी. इस आर्टिकल में हम हरियाणा के समाचार पत्र पत्रिकाएँ, साहित्यिक पत्र पत्रिकाएँ, साप्ताहिक पत्र पत्रिकाएँ आदि के बारें में जानकारी जैन प्रकाश – हरियाणा का पहला हिन्दी समाचार पत्र, जिसे 1885 कई जगह 14 नवंबर 1884 मिला है।. सभी पत्रिकाओं के नाम. Hindi sahitya हिन्दी साहित्य प्रमुख पत्र पत्रिकाएँ. जिस प्रकार साहित्‍य को समाज का प्रतिबिंब माना गया है, उसी प्रकार पत्र पत्रिकाएँ भी सीधे समाज से जुड़ी होती हैं या हम यह हिंदी पत्रकारिता के इतिहास में यदि स्‍वातंत्र्योत्तर युगीन पत्रिकाओं को देखा जाए तो उसमें कल्‍पना का विशिष्‍ट. जागरण पत्रिका के संपादक. आयुर्वेदि‍क विज्ञान औषधि अनुसंधान पत्रिका CCRAS. हिंदी तो क्या, अँगरेजी की फ़िल्मफ़ेअर जैसी पत्रिकाएँ भी इस मामले में पिछड़ रही थीं। जिस तरह आज तो हर हिंदी अँगरेजी दैनिक समाचार पत्और सभी टीवी न्यूज़ चैनल पर फ़िल्मों और फ़िल्मी गौसिप छाई रहती है। धर्मयुग को एक समय.


भारत मित्र पत्रिका के संपादक.

साहित्य अमृत Sahitya Amrit. पाठ्यचर्या संबंधी अपेक्षाएंके को पूरे देश के बच्चों को ध्यान में रखकर प्रथम भाषा के रूप में हिंदी पढ़ने वाले और द्वितीय हिंदी भाषा में विभिन्न प्रकार की सामग्री ​समाचार, पत्र पत्रिका, कहानी, जानकारीपरक सामग्री, इन्टरनेट अपर प्रकाशित. समालोचक पत्रिका के संपादक. Page 1 द्वितीय अध्याय प्रतिनिधि साहित्यिक. कह रहे थे क्यों न हिंदी के सभी पत्र एक दो कालम नियमित रुप से पारिभाषिक शब्दों के लिये दें। एकाध कालम इन शब्दों की संक्षिप्त आलोचना पर रहे। मुझे सह बात सुंदर जँची। हिंदी पत्र ​पत्रिकाएँ यदि पूर्व निर्धारित योजना के अनुसार कार्य करें तो.


आजकल हिन्दी पत्रिका pdf.

Hazari Prasad Ke Patra No. 81 IGNCA. यह कार्यक्रम कक्षा 05 के लिए हिन्दी की पाठ्यपुस्त 18. Januar यह कार्यक्रम समाचार पत्र के उद्भव और क्रमिक विकास के 13. 13. Dezember 2016:04. बाल पत्रिकाएँ. इस कार्यक्रम के द्वारा बालोपयोगी पत्र पत्रिकाओं के ब 13. Dezember 2016:​37. प्रमुख हिन्दी पत्र पत्रिकाएँ और उनके संपादक MY. मध्य प्रदेश से प्रकाशित होने वाली पत्र पत्रिकाएँ. उज्जैन से आप यहाँ पर प्रकाशित gk, पत्र question answers, पत्रिकाएं general knowledge, प्रकाशित सामान्य ज्ञान, पत्र questions in hindi, पत्रिकाएं notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।.


CBSE Class 10 Hindi B पत्र लेखन Learn CBSE.

आधुनिक हिंदी को गढ़ने में अखबारों व पत्रिकाओं की एक महत्वपूर्ण भूमिका रही है। यदि सही अर्थों में कहा जाए तो अधिकाँश पत्र पत्रिकाएँ कुछ सौ की संख्या में छपते थे और अधिकाँशतः साप्ताहिक या मासिक थे। लेकिन कम प्रसार के. राजभाषा पत्रिकाएं व लेख राजभाषा विभाग गृह. अ. अर्हत् वचन पत्रिका‎ ५ C पत्र पत्रिकाएँ श्रेणी में पृष्ठ. इस श्रेणी में निम्नलिखित २०० पृष्ठ हैं, कुल पृष्ठ २३९. ​पिछले २०० अगले २०० ओ. ओसवाल डागा मासिक हिन्दी ओसवाल महिमा मासिक हिन्दी. विभिन्न पत्र पत्रिकाएं‚ पुस्तकें एवं उनके लेखक. हिंदी पत्रिकाओं के नाम, हिंदी पत्रिकाओं की सूची, इंदु पत्रिका के संपादक, प्रकाशित होने वाली पत्र पत्रिकाओं की जानकारी, देश पत्रिका के संपादक का नाम, आजकल पत्रिका का प्रकाशन वर्ष, इन्दु पत्रिका हिन्दी की प्रमुख.


क्ष² दवर mfm सेकंड लैंग्वेज.

2 उदंत मार्तण्ड 30 मई, 1826, साप्ताहिक, कलकत्ता से प्रकाशित, संपादक पं० जुगलकिशोर शुक्ल, प्रथम हिंदी पत्र ​चूँकि हिन्दी का पहला समाचार पत्र 11 बालाबोधिनी:1874, मासिक पत्रिका, बनारस, संपादक भारतेंदु हरिश्चंद्र, केवल महिलाओं के लिए. शैक्षिक पत्रिकाएँ Teachers of India. इस कारण हिंदी माध्यम से पढ़ने वाले छात्र इनसे ज्ञानवर्धन और मनोरंजन करने से वंचित रह जाते हैं। हम हिंदी माध्यम के छात्र चाहते हैं कि विद्यालय में हिंदी की विभिन्न पत्र ​पत्रिकाएँ जैसे सुमन सौरभ, चंदा मामा, पराग, नंदन, नन्हें.

उच्च प्राथमिक स्तर पर हिंदी भाषा सीखने की.

कृषि पत्रिकाएं & समाचार पत्र कृषि जागरण हिंदी, पंजाबी, गुजराती, मराठी, कन्नड़, तेलुगु, असमिया, बंगाली, ओड़िआ, तमिल, म. उत्तर प्रदेश से प्रकाशित होने वाले पत्र पत्रिकाएं. हिंदी के व्यावसायिक विज्ञापनों का गुण एवं लाभ. ​पत्रकारिता के संदर्भ में. ४.१ प्रस्तावना । आधुनिक युग में समाचार पत्र पत्रिकाएँ संचार माध्यम के रीड के हड्डी बन गई है। विज्ञापनकर्ता अपना माल या वस्तु बेचने के लिए समाचार पत्र ​पत्रिकाओं.


पत्र पत्रिकाओं को रद्दी में देने से पहले Webdunia.

किसी भी भारतीय भाषा में पंजीकृत सबसे बड़ी संख्या में पत्र​ पत्रिकाएं हिंदी. 46.587. 6. हिंदी के अलावा अन्य किसी भी भाषा में पंजीकृत दूसरी सबसे बड़ी प्रकाशन संख्या अंग्रेजी​. 14.365. 7. सबसे अधिक पंजीकृत पत्र पत्रिकाओं. हिंदी पत्रिकाओं के नाम Archives Hindigk50k. जेडीआरएएस के संग्रहित लेख 1980 2011 आर एन 1. डीईएलईएनजी 2015 ​64342आईएसएसएन 2279 0357. श्रेणी:पत्र पत्रिकाएँ ENCYCLOPEDIA. प्रस्तुत पत्र पत्रिका कोश हिन्दी पत्रकारिता का एक समेकित इतिहास उपस्थित करने के उद्देश्य से तैयार किया गया है। इसमें हिन्दी पत्रकारिता के डेढ़ सौ वर्षों का लेखा जोखा है। सन्दर्भ ग्रन्थों कोशों का निर्माण बड़ा कष्टकारक होता है,. आवधिक पत्र पत्रिकाएँ ncert. अंतर्राष्ट्रीय हिंदी एवं सामाजिक विज्ञान शोध पत्रिका अंतरराष्ट्रीय त्रेमासिक पत्रिका है जिसमे हिंदी एवं सामाजिक विज्ञान विषय एवं विषयों से सम्बंधित सभी उपविषयों के मौलिक शोध पत्र, शोध समीक्षा, विचार, लेखों आदि का प्रकाशन किया. डिटेल्स Details: Vani Prakashan. जो लोग पत्रिकाएं पढ़ते हैं उनका एक समय के बाद संपादक से एक रिश्ता बन जाता है. ऐसा लगता है, जैसे यहां कुछ ऐसी ही हिंदी पत्रिकाओं का ज़िक्र होने जा रहा है, जिन्होंने हिंदी साहित्य की मशाल को जलाने का काम किया है. हालांकि.


हिन्दी की प्रमुख पत्र पत्रिकाएं पत्र पत्रिकाएं.

समाचार पत्रिका ई अभिलेख. Printer friendly version. Newsletter e ​abhilekh. Printer friendly version. निविदाएं अभिलेखागार ई अभिलेख ​समाचार पत्र अस्वीकृत करना प्रतिक्रिया विज्ञापन संबंधित लिंक्स सहायता वेबसाइट नीतियां साइटमैप. Total Visitors: 72728. हिंदी की नामी पत्रिकाएँ Garbhanal. श्‍याम कश्‍यप हिन्दी की साहित्यिक पत्रकारिता हिन्दी साहित्य के विकास का अभिन्न अंग है। साहित्यिक पत्रकारिता और साहित्य की लोकरंजनकारी भूमिका के कारण हि सामान्य पत्र पत्रिकाएँ भी साहित्यिक विषयों को बराबर स्थान. मध्य प्रदेश से प्रकाशित पत्र पत्रिकाएं gk question. गुलेरी जी एक नवीन विशिष्ट तथा अनूठी भाषा और शैली लेकर. हिन्दी साहित्य में अवतरित हुए। अपनी इस विशिष्टता के कारण ही. समालोचक अपने युग का सामान्य पत्र माना जाने लगा। समालोचक पत्र. का स्तर सरस्वती नागरी प्रचारिणी पत्रिका तथा इन्दु.


Page 1 परिशोध इतिहास हिंदी विभाग, पंजाब.

स्वतंत्रता पूर्वकालीन हिन्दी शैक्षिक पत्र पत्रिकाएँ Original Article. Swarup Ram Ghoud, in Journal of Advances and समाज की शिक्षा के व्यापक प्रचार प्रसार में पत्र पत्रिकाओं की भूमिका भी कमतर नहीं रही है। ब्रिटिश राज में हिन्दी पत्रकारिता ने ही. हिंदी और अखबारों की भूमिका Oxford हिंदी शब्दकोश. अंतर्राष्ट्रीय हिंदी एवं सामाजिक विज्ञान शोध पत्रिका ISSN:2348 2605 त्रेमासिक पत्रिका है. शोध पत्रिका त्रेमासिक पत्रिका है जिसमे हिंदी एवं सामाजिक विज्ञान विषय एवं विषयों से सम्बंधित सभी उपविषयों के मौलिक शोध ​पत्र, शोध समीक्षा. अनटाइटल्ड Indian Railway. शिक्षा जगत की पत्रिकाएँ. विद्या भवन सोसायटी तथा अज़ीम प्रेमजी विश्‍वविद्यालय, बंगलौर द्वारा संयुक्‍त रूप से प्रकाशित त्रैमासिक पत्रिका शिक्षा की बुनियाद का उद्देश्‍य बुनियादी शिक्षा के मुद्दों पर विमर्श करना है।. हिंदी पत्र पत्रिकाएँ होम Facebook. यथोक्त की आलोक में, दलित साहित्य में भी पत्र लेखन की महत्वपूर्ण भूमिका देखने को मिलती है. बाद के दिनों में वे काशीराम साहब की बामसेफ यूनिट की अंग्रेजी पत्रिका The Oppressed India व हिंदी अखबार बहुजन संगठक से जुडे हुए थे,.


आपके विद्यालय का पुस्तकालय विभिन्न प्रकार की.

आज जबकि सोशल नेटवर्किंग का दौर है लोगों के हाथों में टैबलेट्स,मोबाईल,गैजेट्स,लैपटॉप सहित अन्य आधुनिक उपकरणों ने संचार की गति को अत्यधिक तीव्रता प्रदान की है। मीडिया कर्न्वजेंस ने आज दैनिक समाचार पत्र जैसे पारंपरिक मुद्रित. RNI ने बताया, किस भाषा में है सबसे अधिक समाचार. परिभाषा लिखा हुआ काग़ज़ आदि, विशेषतः वह काग़ज़ आदि जिस पर किसी विषय से संबंधित कोई महत्व की बात लिखी हो वाक्य में प्रयोग उसका प्रवेश पत्र कहीं खो गया है । पत्र पत्रिकाएँ पढ़ते हुए सफ़र आसानी से कट जाता है । समानार्थी शब्द पत्र,.


Raj Kaur, Hindi Thesis.pdf.

1, 1780, 29 जनवरी, बंगाल गजट कलकत्ता जनरल एडवर्टाइजर हिक्की गजटसाप्ताहिक अंग्रेजी में, जेम्स आगस्टस हिक्की, भारत का प्रथम समाचार पत्र. 2, 1826, 30 मई, उदंत मार्तण्ड, पं० जुगलकिशोर शुक्ल, प्रथम हिंदी पत्र चूँकि हिन्दी का पहला. अंतर्राष्ट्रीय हिंदी एवं सामाजिक विज्ञानं शोध. One Reply to इंटरनेट पर हिन्दी पत्र पत्रिकाएं. pawan panchariya bhanekagaon says: March 3, 2017 at 5:55 am. गौ प्रेमी बाल व्यास पंडित दीपक शास्त्री भाणेकागाँव ​774138896053841 Reply. पत्र पत्रिकाओं के लाभ महत्व पर निबंध निबंध. पत्रिका का प्रथम अंक अप्रैल, 1978 में राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय के प्रथम सचिव श्री रमाप्रसन्न नायक के राजभाषा विभाग के दायित्वों में हिंदी के प्रगामी प्रयोग को प्रोत्साहन देने के लिए पत्र पत्रिकाओं का प्रकाशन भी एक.

...