पिछला

★ बौद्ध स्तूप - भारत के सम्राट ..


                                     

★ बौद्ध स्तूप

ये मुझे बिहार स्थित हाई सांची भारत के मध्य प्रदेश राज्य के रायसेन जिले, में स्थित एक छोटा सा गांव है. यह भोपाल से ४६ कि किलोमीटर पूर्वोत्तर में है, और किया जा रहा है और विदिशा से १० कि किलोमीटर की दूरी पर मध्य-प्रदेश के मध्य भाग में स्थित है. यहां कई बौद्ध स्मारक हैं जो तीसरी शताब्दी ई.पू से बारहवीं शताब्दी के बीच के काल के हैं. सांची में रायसेन जिले की एक नगर पंचायत है. सही यहाँ है एक महान स्तूप स्थित है । इस स्तूप को घेरे कई तोरण भी बना रहे हैं. यह प्रेम, शांति, विश्वास और साहस के प्रतीक हैं. सांची के महान मुख्य स्तूप, मूल रूप से सम्राट अशोक महान तीसरा, यह ई । पू. में बनवाया गया था

                                     
  • ह ह यह ब द ध स त प ह ज नम एक क ऊ च ई फ ट ह स च स त प क कल प रख य त ह स च स म ल स न र क प स ब द ध स त प ह और स च
  • स थ त प रम ख स म रक च ख ड स त प ह ज स रन थ स म टर दक ष ण - पश च म म ऊ च ई ट स बन ह य महत त वप र ण ब द ध स त प ह और व र णस स क म
  • चत र म ख स ह स त भ, भगव न ब द ध क प र च न म द र, ध म क स त प च ख ड स त प आद श म ल ह स रन थ ब द ध धर म क प रध न क द र थ क त म हम मद ग र न आक रमण
  • त बर फ स त प स प घल बर फ फसल क ल ए प न क आप र त करत ह क य क इनक आक र ब द ध स त प क सम न ह त ह इस ल ए इन ह बर फ स त प कह ज त
  • ब द ध धर म भ रत क श रमण परम पर स न कल ह आ एक धर म और मह न दर शन ह ईस प र व 6ठ शत ब द म ग तम ब द ध द व र ब द ध धर म क स थ पन ह ई ह एव
  • स त प स स क त और प ल स ल य गय ह ज सक श ब द क अर थ ढ र ह त ह एक ग ल ट ल क आक र क स रचन ह ज सक प रय ग पव त र ब द ध अवश ष क रखन क
  • ध म क स त प एक व हत स त प ह और उत तर प रद श म व र णस क न कट स रन थ म स थ त ह यह व र णस स क म द र ह ध म क स त प क न र म ण ईसव
  • न र पण ह उल ल खन य ब द ध व यक त त व, मण डल, वज र, घण ट स त प तथ ब द ध म द र श ल प ब द ध कल क उद भव भ रत य उपमह द व प म ह आ ब द ध म र त कल
  • व श व श त स त प अ ग र ज World Peace Stupa मह र ष ट र क वर ध ज ल म ग त ई म द र क प स, सफ द र ग क एक व श ल स त प ह ब द ध क प रत म ए
  • च त य एक ब द ध य ज न म द र ह ज सम एक स त प सम ह त ह त ह भ रत य व स त कल स स ब ध त आध न क ग र थ म शब द च त यग ह उन प ज य प र र थन स थल
  • अफग न स त न, स त प क स ढ क र स त हद क स थ न स च ख ल - ए - घ ड मठ, द व त य - त त य शत ब द स त प क स थ क र ट, ख द ई क ब द, अल मस ज द श व क स त प ब द ध
  • ब द ध धर म व श व क प रम ख धर म म स एक ह और इसक स स थ पक ग तम ब द ध ईसव प र व - ईसव प र व थ ब द ध धर म आब द कर ड स
  • थ ईल ड म ब द ध धर म क ब र म ह ब द ध धर म क व य पक पर भ ष क ल ए व श व म ब द ध धर म द ख थ ईल ड म ब द ध धर म थ रव द ब द ध सम प रद य ह
                                     
  • स रन थ क सम द ध और ब द ध धर म क व क स सर वप रथम अश क क श सनक ल म द ष ट गत ह त ह उसन स रन थ म धर मर ज क स त प धम ख स त प एव स ह स त भ क न र म ण
  • फ र भ न रबख श स प रद य क ब द ध धर म क क छ तत व क बन ए रखन क ल ए कह ज त ह 7 व शत ब द क उत तर र ध म ब द ध धर म द श म आय थ जब अध क श
  • अन र ध प र क स त प क म ख य स त प ह यह 300 फ ट ऊ च ह और ई ट क बन ह आ सबस प र न ढ च ह इस स त प क र ज दत त गम न न बनव य थ इस स त प क स रचन
  • स वय भ न थ स त प स वय भ न थ स त प स वय भ न थ स त प स वय भ न थ स त प स वय भ न थ स त प स वय भ न थ स त प स वय भ न थ स त प स वय भ न थ स त प स वय भ न थ स त प स वय भ न थ
  • स म स क त क महत व क स थ न ह यह अपन ब द ध स त प क क रण प रस द ध ह ज म प रक श म आय थ य स त प अश क क श सनक ल म ईस प र व त सर शत ब द
  • म सतन ज ल म स थ त एक स थल ह यह स थ न ब द ध स त प और कल क त य क ल ए प रस द ध ह यह क स त प प ष यम त र श ग द व र सम भवत ईस प र व क
  • स थल ह यह एक व हद ब द धक ल न स त प ह ज स क सर य स त प क न म स ज न ज त ह क सर य एक महत वप र ण ब द ध स थल ह यह च प रण म स थ त एक छ ट
  • क ठम ण ड क प र व भ ग म स थ त प रस द ध ब द ध स त प तथ त र थस थल ह एस म न ज त ह क यह व श व क सबस बड स त प म स एक ह 1979 स यह एक य न स क
  • अश क न स मरण क र प म स त प क न र म ण करव य थ इस व श व क सबस बड स त प म न ज त ह वर तम न म यह स त प 1400 फ ट क क ष त र म फ ल
                                     
  • ईस प र व दफन य गय थ प र च न ब द ध ल ख म इस स त प क म क ट ब धन च त य क न म द य गय ह कह ज त ह क यह स त प मह त म ब द ध क म त य क समय
  • कहल य 68. स त प स त प क अर थ ह - ब द ध तथ अन य मह प र ष क प वन अवश ष क रखन क ल ए एक प रक र क स तम भ क सम न स म त च ह न स त प क धर म
  • व श ल म द सर ब द ध पर षद क आय जन क य गय थ इस आय जन क य द म द ब द ध स त प बनव य गय व श ल क सम प ह एक व श ल ब द ध मठ ह ज सम मह त म
  • त त य ब द ध स ग त ईस प र व - - चत र थ ब द ध स ग त - - य द स थ न पर ह ई थ प चम ब द ध स ग त थ रव द ब द ध स ग त षष ट ब द ध स ग त
  • म ण क यल स त प उर द مانكياله اسٹوپ द सर शत ब द म न र म त एक स त प ह यह प क स त न क प ज ब प र न त क म ण क यल ग व क न कट स थ त ह ज तक कथ ओ
  • धर मर ज क एक व श ल ब द ध स त प ह ज तक षश ल क ष त र म स थ त ह ऐस व श व स ह क इसक न र म ण सम र ट अश क न त सर शत ब द ईस प र व म कर य थ
  • कन ष क स त प उर द کنشک اسٹوپ कन ष क द व र द व त य शत ब द म न र म त स त प ह यह प श वर प क स त न क ब हर क ष त र म स थ त ह अम र क इत ह सक र
  • ज न गढ द वन म र म एक स त प भ ह जह ढ र अवश ष म ल थ यह ग जर त क क ष त र म एक म क त स त प क एकम त र म मल ह स त प क अ दर ब द ध क न छव य

यूजर्स ने सर्च भी किया:

भारत का सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप, भारत में सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप कहां स्थित है, विश्व का सबसे ऊंचा स्तूप, सांची का स्तूप, सतप, बदध, सबस, बदधसतप, कसरय, रभक, रभकबदधसतपकल, शवकसबसऊचसतप, बदधसतपकसरय, चकसतप, भरतमसबसबडबदधपकहसथतह, बदधसतपकहह, सथत, शवकसबसबडसतपकहह, भरत, भरतकसबसबडबदधसतप, बौद्ध स्तूप, भारत के सम्राट. बौद्ध स्तूप,

...

शब्दकोश

अनुवाद

बौद्ध स्तूप केसरिया.

विश्व का सबसे ऊंचा बौद्ध स्तूप केसरिया यूनेस्को. रॉयल भूटान पुलिस आरबीपी ने दोचुला स्थित बौद्ध स्तूप के ऊपर चढ़ने को लेकर एक भारतीय पर्यटक को हिरासत में लिया है। पर्यटक की पहचान महाराष्ट्र के अभिजीत रतन हज़ारे के रूप में हुई है जो भूटानी टीम लीडर के साथ गए 15 बाइक के समूह में शामिल था।. भारत का सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप. बौद्ध स्तूप: Latest बौद्ध स्तूप News Navbharat Times. विश्व के सबसे ऊँचे बौद्ध स्तूप आज कल बौद्ध धर्मावलम्बियों व आम लोगों के लिए पर्यटक केन्द्र के साथ साथ आस्था का केन्द्र बना हुआ है। बिहार की राजधानी पटना से करीब 110 किलोमीटर की दूरी पर पूर्वी चम्पारण जिले के केसरिया.


भारत में सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप कहां स्थित है.

इटखोरी में बनायेंगे दुनिया का सबसे बड़ा बौद्ध. वह टीला जो भगवान बुद्ध या किसी बौद्ध भिक्षु की अस्थि, दाँत​, केश आदि स्मृति चिन्हों को सुरक्षित रखने के लिए उनके ऊपर बनाया गया हो. आज का मुहूर्त. muhurat. शुभ समय में शुरु किया गया कार्य अवश्य ही निर्विघ्न रूप से संपन्न होता है। लेकिन दिन. प्रारंभिक बौद्ध स्तूप कला. केसरिया बौद्ध स्तूप के विकास के लिए जरूरत पड़ी तो. इतिहासकारों और बौद्ध धर्म के जानकारों के अनुसार सिसवा ब्लाक के चिउटहां स्थित कुंवरवर्ती ही वह स्थान है जहां भगवान बुद्ध ने गृह त्याग के बाद अपने राजसी वस्त्र यही उतारे थे। यहीं पर उन्होंने ने संन्यासी वस्त्र धारण किया था।.


विश्व का सबसे बड़ा स्तूप कहाँ है.

बौद्ध धर्म और वास्तुकला के बेहतरीन Namaste. Sanchi Ka Stoop in Hindi, साँची का स्तूप एक बौद्ध समारक है जो भारत के मध्य प्रदेश राज्य के साँची नामक गांव में स्थित है।. विश्व का सबसे ऊंचा स्तूप. जानें, बौद्ध धर्म के इन 10 प्रसिद्ध स्‍थलों के बारे. यहां खुदाई से निकली मूर्तियों के अतिरिक्त माथाकुंवर का कोटा परिनिर्वाण स्तूप तथा विहार स्तूप दर्शनीय हैं. 80 वर्ष की अवस्था में बुद्ध ने दो साल वृक्षों के मध्य यहां महापरिनिर्वाण प्राप्त किया था. यह प्रसिद्ध बौद्ध तीर्थ.


बौद्ध वास्तुकला CCRT.

विश्व का सबसे ऊंचा बौद्ध स्तूप केसरिया यूनेस्को ने इसे विश्व धरोहर में शामिल कियायूनेस्को की विश्व धरोहर में शामिल केसरिया के बौद्ध स्तूप की तैयारी पूरी कर ली गई है। इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से Motihari Bihar News In Hindi. इटखोरी में बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप. यह जगाधरी से 3 किमी दूर स्थित है। गांव के करीब 100 वर्ग मीटर के क्षेत्र में ईंटों से बने से 8 मीटर की ऊँचाई वाला एक विशाल मकबरा है। गोल आकार में बना, यह एक पुराना बौद्ध स्तूप है। हेन त्सांग के अनुसार, यह राजा अशोक द्वारा बनाया गया था. देउर कोठार जिला रीवा, मध्यप्रदेश शासन भारत. सांची के आसपास ही सुनारी, मुरेल कला और अंधेर में शुंग काल में बनागए स्तूप मौजूद हैं। सांची से भोपाल मार्ग पर महज 11 किमी की दूरी पर ही सतधारा में दो बड़े बौद्ध मठ और 25 से अधिक छोटे स्तूप बने हैं। वरिष्ठ पुरातत्वविद डॉ. स्यूडो सेक्यूलर्स की नई साज़िश बौद्ध स्तूप ढहा. यहां बौद्ध स्मारक हैं, जो कि तीसरी शताब्दी ई.पू. से बारहवीं शताब्दी के बीच के हैं। यह रायसेन ज़िले की एक नगर पंचायत है। यहीं यह स्तूप स्थित है। इस स्तूप को घेरे हुए कई तोरण भी हैं। यह प्रेम, शांति, विश्वास और साहस का प्रतीक है। सांची का स्तूप​. दर्शनीय हैं सांची में बने अशोक युग के बौद्ध स्तूप. महात्मा बुद्ध के निर्वाण के बाद भारत और अफगानिस्तान में बड़ी संख्या में स्तूपों का निर्माण प्रारंभ हुआ। सम्राट अशोक ने ही लगभग 84000 स्तूपों का निर्माण करा कर बौद्ध धर्म के प्रति अपनी असीम श्रद्धा का प्रदर्शन किया।. गौतम बुद्ध के 8 स्तूप GK Tricks. मध्य प्रदेश राज्य के रायसेन ज़िले में स्थित सांची स्तूप एक बौद्ध स्मारक है, जिसका निर्माण सम्राट अशोक ने तीसरी शती ई.​पू में कराया था सांची स्तूप में बुद्ध के अवशेष पाये जाते हैं सांची के स्तूप का निर्माण बौद्ध अध्ययन एवं.


भूटान में बौद्ध स्तूप के ऊपर चढ़ा भारतीय पर्यटक.

भूटान में धार्मिक बौद्ध स्तूप के कथिक अपमान के आरोप में एक भारतीय टूरिस्ट को हिरासत में लिया गया है. इस व्यक्ति की पहचान अभिजीत रतन के रूप में हुई है जो कि महाराष्ट्र का रहने वाला है. हालांकि उसके बाद में मांफी मांगने के. अनटाइटल्ड Shodhganga. बारिश में गिरा 2500 साल पुराना बौद्ध स्तूप संरक्षण के अभाव में जर्जर हो गया था धर्मसिंहवा स्थित स्तूप सारनाथ जाते दौरान भगवान बुद्ध ने यहां गुजारी थी एक रातअमर उजाला ब्यूरोधर्मसिंहवा संतकबीरनगर। चार दिनों. भारत का इतिहास: जानिए साँची का स्तूप के बारे में. स्तूप बौद्ध धर्म के अनुयायियों के पूजनीय स्थल हैं। यहां क्यों और कैसे बनाए गए, इसका वर्णन दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व तक सारनाथ, साँची, भरहुत, बौद्ध गया इत्यादि स्थानों पर बड़े ​बड़े स्तूप बनाए जा चुके थे। अशोक व कई अन्य शासकों के अतिरिक्त.


केसरीअ बौद्ध स्तूप की तस्वीरें HolidayIQ.

गुजरातः तारंगा हिल्स में खोदाई के दौरान मिला बौद्ध स्तूप. 21 Jun 2018. गुजरातः तारंगा हिल्स में खोदाई के दौरान मिला बौद्ध स्तूप. Terms and Condition Privacy Policy Copyright Policy Hyperlink Policy Disclaimer Help. Copyright © 2018 Gujarat Bhawan and Office For. सांची स्तूप Jagran Josh. जानिए बिहार में मौजूद, विश्व के सबसे बड़े प्राचीन स्तूप के बारे में। जानिए पर्यटन के लिहाज से यह प्राचीन स्थल आपके लिए कितना खास है। kesaria Stupa in Bihar, which considered as the largest ancient stupa in the world. check out the history and other information. बिहार के केसरिया में है विश्व का सबसे बड़ा बौद्ध. देश विदेश से आए बौद्ध भिक्षुओं ने शनिवार को अन्य श्रद्धालुओं के साथ कपिलवस्तु में स्थित स्तूप की परिक्रमा के बाद पूजा अर्चना की । कपिलवस्तु में इस मौके पर विविधि कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं जबकि रात में एक स्वयंसेवी​. प्रारंभिक बौद्ध स्तूप कला, लोक वर्ण्य विषयों एवं. By आज़ाद परिंदा सिद्धार्थ. Photo of इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत बौद्ध स्तूप 1. ये तो सभी जानते हैं कि पूरी दुनिया में फैल चुकी बौद्ध धर्म की जड़ें भारत में जमी हैं बोध गया, जहाँ भगवान बौद्ध को तत्व ग्यान प्राप्त हुआ,.

प्रमुख बौद्ध स्थल Buddhist Places in India संसार लोचन.

चम्पारण। बिहार के चम्पारण में स्थित विश्व का सबसे ऊंचा केसरिया बौद्ध स्तूप सुरक्षा एवं संरक्षण के अभाव में नष्ट हो रहा है. बौद्ध संगठनों की राष्ट्रीय समन्वय समिति, बुद्धगया के राष्ट्रीय संगठक आशाराम गौतम ने केसरिया बौद्ध. WorldHeritageDay: सांची का बौद्ध स्तूप है Patrika. मध्य प्रदेश के रायसेन जिले के साँची नामक स्थान पर स्थित ​साँची का बौद्ध स्तूप भारत में पत्थरों से निर्मित सबसे पुराणी इमारतों.


स्तूप क्यों और कैसे बनाए जाते थे? चर्चा कीजिए.

WorldHeritageDay: सांची का बौद्ध स्तूप है विश्व की धरोहर, जानिये क्यों मिला है इसे ये खास स्थान? इन्ही में से एक है मध्य प्रदेश के रायसेन जिले के सांची में स्थित सांची स्तूप, जिसे परमार वंश के सम्राट अशोक ने बनवाना शुरु किया. स्तूप उत्पत्ति और विकास GK Hindi. केसरिया पूर्वी चंपारण से दीपू कुमार गिरि की रिपोर्ट। बिहार नवयुवक सेना के साथी सदस्यों के द्वारा केसरिया के विश्व प्रसिद्ध बौद्ध स्तूप का भ्रमण किया गया, जहां भ्रमण के दौरान बौद्ध स्तूप के परिसर में फैले गंदगी के सफाई करते. वैशाली नीतीश कुमार ने बुद्ध सम्यक संग्रहालय का. GK रटने की जरुरत नहीं. हम बतायेंगे GK याद रखने के एकदम आसान ट्रिक्स, जिसकी मदद से आप लम्बे समय तक GK को याद रख सकते हैं. इतिहास प्रेमियों के लिए खास: भारत के सबसे खूबसूरत. अर्धगोलाकार गुंबद वाला बौद्ध स्‍तूप वास्‍तुकला का एक अन्‍य उदाहरण है जिसके ठोस होने के कारण उसमें कोई प्रवेश नहीं कर सकता । स्‍तूप अंत्‍येष्टि के लिए बनागए महिमामंडित, सज्जित और परिवद्धित टीले हैं जहां पर कभी किसी पवित्र व्‍यक्ति की. केसरिया बौद्ध स्तूप पूर्वी चंपारण मोतिहारी. स्वच्छता में भगवान का वास डीएम. केसरिया के विश्व प्रसिद्ध बौद्ध स्तूप पर शनिवार सुबह पहुंच कर डीएम रमण कुमार ने पूरे स्तूप परिसर की सफाई की । डीएम को सफाई करते देख उपस्थित सभी अधिकारियों एवं आम लोगों ने भी सफाई शुरू कर दी । कुछ ही.


इटखोरी में बनेगा दुनिया का सबसे ऊंचा बौद्ध स्तूप.

भोपाल व विदिशा के बीचोंबीच स्थित छोटा सा सांची नगर सम्राट अशोक के युग के बौद्ध स्तूपों के लिए प्रसिद्ध है। यहां पर वर्ष भर देश−विदेश से सैलानी आते रहते हैं।. चनेती बौद्ध स्तूप Yamunanagar. भारत में सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप कहाँ स्थित है? A सारनाथ B सांची C गया D अजन्ता. 0 0. Address. Mail:d@ Adress:RAOPURA, SHAHPURA, JAIPUR RAJ Phone: 91 8058784789. Play Store. Subscribe. Want to be notified when we launch a new udpates. Just send you a. गुजरात के तारंगा हिल्स में खोदाई के दौरान मिला. स्तूप एक गोल टीले के आकार की संरचना है जिसका प्रयोग पवित्र बौद्ध अवशेषों को रखने के लिए किया जाता है। माना जाता है कभी यह बौद्ध प्रार्थना स्थल होते थे।. विश्व का सबसे बड़ा केसरिया बौद्ध स्तूप । Kesaria. आज हम आपको बिहार के एक ऐसे जगह के बारे में बताएंगे जिससे आप अब तक अनजान रहे हैं । बिहार राज्य के पूर्वी चम्पारण EAST CHAMPARAN जिले में केसरिया नामक एक बौद्ध स्थल है जिसे पूरे विश्व का सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप को सहेज कर रखने का गौरव प्राप्त.


मेन्स प्रैक्टिस प्रश्न Main Answer Writing Practice.

HolidayIQ यात्री समुदाय द्वारा साझा की गई हमारी 2 केसरीअ बौद्ध स्तूप मोतिहारी फ़ोटो देखें। अपनी खुद की तस्वीरें साझा करें, समीक्षा लिखें और वहां लाखों यात्रियों की सहायता करें।. शिव मन्दिर के गर्भगृह के नीचे मिला Samrat Ashoka. फिर भी यह निश्चित है कि प्रारम्भिक बौद्ध कला की सर्वोत्तम निधियाँ हमें साँची में ही मिलती हैं. साँची के स्मारकों का आरम्भ अशोक के युग से हुआ. साँची के बड़े स्तूप का व्यास 30.5 मीटर है. अपने मौलिक रूप में इसे अशोक के काल.


बौद्ध स्तूप डिक्शनरी Raftaar.

लेकिन आजकल कुछ नवबौद्ध और स्यूडो सेक्यूलर एक नया चोंचला लेकर आये हैं कि भारत के हिन्दू मंदिरों को बौद्ध स्तूपों के ध्वंसावशेष पर बनाया गया है. अयोध्या में अदालती आदेश पर हुई पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की खुदाई की रिपोर्ट. साँची का स्तूप कहां स्थित है? Sanchi Ka Stoop in Hindi. पूर्वी चम्पारण जिला की भौगोलिक, ऐतिहासिक एवं पुरानत्विक विरासत युगों से रही है। परन्तु 1998 में पुरातत्व अन्वेषण विभाग द्वारा केसरिया में उत्खनन के बाद दुनिया का सबसे ऊँचा बौद्ध स्तूप मिलने के बाद बिहार ने अपने अतीत का गौरव फिर से. स्‍मारक: सांची में बौद्ध स्‍तूप News Puran अध्यात्म. Hi आंध्र प्रदेश के नागार्जुनकोंडा तथा दूसरे बौद्ध स्थलों पर ईंटों के बने चैत्य मंदिर विहार अथवा मठ से ही संबद्ध रहे हैं. यह अधिकतर विहार के प्रवेशद्वार से लगे दालान के दोनों और अथवा मुख्य स्तूप और महाचैत्य के अगल बगल बने मिलते हैं. ये चैत्य. नंदनगढ़ बौद्ध स्‍तूपः क्‍या यह बुद्ध की उपेक्षा है?. सांची, जिसे काकानाया, काकानावा, काकानाडाबोटा तथा बोटा श्री पर्वत के नाम से प्राचीन समय में जाना जाता था और अब यह मध्‍य प्रदेश राज्‍य में स्थित है। यह ऐतिहासिक तथा पुरातात्विक महत्‍व वाला एक धार्मिक स्‍थान है। सांची अपने.


उपेक्षा का शिकार है कुंवरवर्ती स्तूप Uttar Pradesh.

मुख्यमंत्री रघुवर दास ने सोमवार को तीन दिवसीय इटखोरी राजकीय महोत्सव का उद्घाटन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इटखोरी में दुनिया का सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप बनाया जाएगा। यह स्थल हिंदू, बौद्ध और जैन धर्म के लिए संगम का काम करेगा।. भारत में सबसे बड़ा बौद्ध स्तूप कहाँ स्थित है. गुजरात के तारंगा हिल्स में खोदाई के दौरान मिला बौद्ध स्तूप. गुजरात, 22 जून गुजरात के अलावली रेंज के तारंगा हिल में बौद्ध धर्म का केंद्र होने के महत्वपूर्वण सबूत मिले हैं। देव नी मोरी साइट में तीसरी ईसवीं शताब्दी के भगवान.

...